224+ Dard gam bhari shayari in hindi 2021 दर्द भरी शायरी

कितनी हिफाजत से रखते थे हम उनको
पर बदले में क्या मिला सिर्फ दर्द

कुछ रिश्ते टूट तो गए है
पर पूरी ज़िन्दगी भर ख़तम नहीं होंगे
यु जो आप नज़र अंदाज़ करते हो पर
जान लो खामोश हु पर अँधा नहीं

अगर मेरे और तेरे बीच 
ये जमाना नहीं होता 
खुदा की कसम 
मेरी ज़िन्दगी का गुजरा अकेला नहीं होता

एक मिनट की भी जुदाई 
पसंद नहीं थी जिनसे
आज उनसे हमेशा लिए फासला हो गया

आपका मेसेज बस एक मेसेज नहीं हैं
हमारे चेहरे की मुस्कान हैं

कोई ज़िन्दगी की परेशानियों से गुजरा
कोई इश्क़ में दर्द ले बैठा
कोई कागज पर दर्द लिखने लगा
और हम खुद शायर बन बैठे

अब भी चाहता हु बहुत उसको
चाहे, वो पसंद नहीं करती मुझको
ये पागल दिल थोड़ी जानता था
तुम पहले से ही चाहती हो किसी और को

पूछ लेते हैं लोग
कभी कभी तुम्हारा नाम
फिर भी मैं नहीं बताता
क्योकि मैंने तो सच्चा प्यार किया था

जब मिलोगे कभी
तो पूछेंगे तुम्हे वो हर उलझे सवाल
जिनमे आज भी
हमारी ज़िन्दगी उलझी हुई हैं

वो परियो सी दिखती है
देखकर खो जाता हु कही
जानता हु उन्हें पा नहीं सकता
क्योकि हम उनमे कही नहीं

रहेगा दर्द ज़िन्दगी भर
काश उसने हां कर दिया होता
उसे चाहा पर छु भी न सका
काश मैंने कभी, उसे देखा न होता

1 thought on “224+ Dard gam bhari shayari in hindi 2021 दर्द भरी शायरी”

Leave a Comment