222+ Dard bhari shayari in hindi 2021

मैं अब भी सोचता हु
मैं बहुत Late हो गया
जब तक मैंने उसे इजहार किया
तब तक उसी किसी और में फैथ हो गया

Advertisement

ना जाने कैसे खेल खेल गया
ये किस्मत
जिससे चाहा बेंतहा
वो बन गया किसी और किस्मत

कैसे कह दू तुम्हे बेवफा
बेवफा तुम नहीं
तुम तो मोहब्बत हो हमारी

रो लेता हु उन्हें याद करके
क्योकि वो सिर्फ यादो में आ सकती हैं
किस्मत में नहीं
जानता हु देरी कर दी
वो पहली मोहब्बत तो मेरी है
भले मेरी किस्मत में नहीं

Advertisement

वो रहती हैं मेरे सामने
हर पल हर दिन देखता हु उसे
सोचता हु एक बार तो बता दू
पर डरता हु कही
बिना पाए उन्हें खो न दू

बिखर गए हैं
टूटे हुए शीशे की तरह
शायद ही फिर संभल पाएंगे
उगते हुए सूरज की तरह

बेवफा तुम नहीं
हमारी मोहब्बत हैं हमसे
उम्मीद हमने की थी
इसलिए बर्बाद भी हम ही हुए

अब अकेला ही खुश हु
क्योकि मैंने खुद को पा लिया
तेरे इंतज़ार करते करते

Advertisement

हम बिना पाए ही
तुझपे बहुत मरते हैं
अभी तो इकरार करना बाकी हैं
फिर भी तुझे खोने से डरते हैं

एक ही समझाने वाला था मुझे
अब तो वो भी नादान हो गए

अगर तुम चले ही गए हो
तो पीछे मुड़कर मत देखना
क्योकि दिल तोड़ने के बाद
मलहम लगाया नहीं जाता

दुःख इस बात का नहीं
की तुम चले गए
दुःख इस बात का हैं
की तुम किसी और के हो गए

Advertisement

छुपा के जिन्हें
मैंने अपने बाहों में रखा था
न जाने कोई कैसे
हमसे चुरा कर ले गया

जो कल ही बाहों में थी
आज वो सिर्फ यादो में हैं



Advertisement

Leave a Comment