224+ Dard gam bhari shayari in hindi 2021 दर्द भरी शायरी

मैं अब भी सोचता हु
मैं बहुत Late हो गया
जब तक मैंने उसे इजहार किया
तब तक उसी किसी और में फैथ हो गया

न जाने कौन सी बीमारी बना रखी हैं
न कोई दावा न कोई दुआ लगती हैं
इश्क के नाम पर दुनिया तबाह कर रखी हैं

ना जाने कैसे खेल खेल गया
ये किस्मत
जिससे चाहा बेंतहा
वो बन गया किसी और किस्मत

कैसे कह दू तुम्हे बेवफा
बेवफा तुम नहीं
तुम तो मोहब्बत हो हमारी

रो लेता हु उन्हें याद करके
क्योकि वो सिर्फ यादो में आ सकती हैं
किस्मत में नहीं
जानता हु देरी कर दी
वो पहली मोहब्बत तो मेरी है
भले मेरी किस्मत में नहीं

वो रहती हैं मेरे सामने
हर पल हर दिन देखता हु उसे
सोचता हु एक बार तो बता दू
पर डरता हु कही
बिना पाए उन्हें खो न दू

बिखर गए हैं
टूटे हुए शीशे की तरह
शायद ही फिर संभल पाएंगे
उगते हुए सूरज की तरह

बेवफा तुम नहीं
हमारी मोहब्बत हैं हमसे
उम्मीद हमने की थी
इसलिए बर्बाद भी हम ही हुए

अब अकेला ही खुश हु
क्योकि मैंने खुद को पा लिया
तेरे इंतज़ार करते करते

हम बिना पाए ही
तुझपे बहुत मरते हैं
अभी तो इकरार करना बाकी हैं
फिर भी तुझे खोने से डरते हैं

एक ही समझाने वाला था मुझे
अब तो वो भी नादान हो गए

अगर तुम चले ही गए हो
तो पीछे मुड़कर मत देखना
क्योकि दिल तोड़ने के बाद
मलहम लगाया नहीं जाता

दुःख इस बात का नहीं
की तुम चले गए
दुःख इस बात का हैं
की तुम किसी और के हो गए

छुपा के जिन्हें
मैंने अपने बाहों में रखा था
न जाने कोई कैसे
हमसे चुरा कर ले गया

जो कल ही बाहों में थी
आज वो सिर्फ यादो में हैं

मिल लेता हु तुम्हे
अपनी यादो में
जब भी याद आती हैं तुम्हारी
कैसे भुला दू
हर दिन याद आती हैं तुम्हारी

न जाने कहा कहा नहीं माँगा तुम्हे
ये जानते हुए
मेरे इश्क की कोई खबर नहीं हैं तुम्हे

तेरे ऐसे पागल आशिक हैं हम
प्यार कभी हुआ न कम
माना मैं बेरोजगार था
लेकिंग फिर भी तू स्वीकार था

दुआ कर करके मैं हार गया
पर फिर भी वो हासिल न हुआ
लगता हैं उन्हें किसी और ने
हमसे पहले दुआ करके मांग लिया

कोई बताये क्या गुनाह हैं हमारा
प्यार तो हमने भी किया था
तो क्यों वो किसी और के बन गए

ए हवाए जाओ कह दो उन्हें
हम न रह पाएंगे बिन उनके
संभल जाओ बहुए पछताओंगे
अगर किया वादा न निभाओगे

वो बेवफा थी
इसलिए दर्द छुपा कर रखता हु
आँखे रोना चाहती हैं
पर किसी तरह चुप करा कर रखता हु

वो कहते हैं हम भूल जाए उन्हें
पर क्यों बताते नहीं
कोई और पसंद हैं उन्हें
न जाने कितनी दुआओ के बाद पाया था
और आज कहते हैं हम पसंद नहीं उन्हें

कल मिला था दर्द मुझे
तो उसने भी पूछ लिया
क्यों मायूस हो इतना
प्यार तो तुमने भी किया था
तो अब सजा भी लेलो हर किसी के तरह

बहुत दर्द होता हैं बार बार ये सोचकर
एक समय था जब हम सबसे करीब थे तुम्हारे
आज समय ने अपना कमाल दिखाया हैं
वो कुछ यु Ignore करते है जैसे कभी देखा ही न हो हमे

कभी याद आऊ तो सोचना जरुर
क्यों आपको पाने के बाद
हमने कभी खुदा से कोई दुआ न मांगी

मैं जानता नहीं शायर कैसे बनते हैं
शायद सीखना पड़ता हैं
पर मेरी दास्ताँ कुछ अलग हैं दुनिया वालो
शायर बनने के लिए, बुरी तरह टूटना पड़ता हैं

न ही खोने की सजा हैं
न ही पाने की सजा हैं
ये दर्द तो किसी बेवफा के साथ
मोहब्बत करने की सजा हैं.

जा रहा हु तुझे छोड़कर
अब खुद का बहुत ख्याल रखना
बार बार स्टेटस बदलते मत रहना
थोडा अपने सेहत का भी ध्यान रखना

अब न कभी तुझे गुस्सा आएगा
क्योकि गुस्सा दिलाने वाला
अब तेरे पास नज़र नहीं आएगा

शराब को बहाना बनाकर
मुझे गलत ठहराया जा रहा था
पर हर रोज उनसे मिलने
कोई गैर आ रहा था
और शराब के बहाने
उस गैर को छुपाया जा रहा था

मैं ये मानता हु की तुम्हे समय दे न पाया
जो पल साथ ज़ीने थे तुम्हारे, मैं जी न पाया
धीरे धीरे रिश्ते की डोर कमजोर हो रही थी
मैं समझ न पाया
तुम्हे खुद से दूर होने से, मैं रोक न पाया

जानता हु तू खुश हैं
आखिर तेरे चाहने वाले भी कम नहीं हैं
पर कभी न कभी हम याद आते ही होंगे
आखिर तेरे पास हम नहीं हैं
पर तुझसे दूर होकर खुश हैं हम
की तुझसे दूर होने का कोई गम नहीं हैं

1 thought on “224+ Dard gam bhari shayari in hindi 2021 दर्द भरी शायरी”

Leave a Comment