Dard bhari shayari (दर्द भरी शायरी) in hindi

यहाँ मेरी जान जा रही है उनके बगेर
वहा वो किसी और की जान बन रहे है

Advertisement

माफ़ करना आपसे दोस्ती करने के लिए
माफ़ करना आपसे बात करने के लिए
माफ़ करना आपकी ज़िन्दगी में आने  के लि
माफ़ करना आपका टाइम ख़राब करने के लिए

अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों  NAHI
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों  NAHI..!!

मन की किस्मत ने हरा दिया है हमको
पर इतने भी गुन्हेगार नहीं है
हम की खुदा हमारे साथ न हम
खुदा साथ है तभी तो जीते है
वरना तेरी यादो ने कबका तोड़ दिया होता मुझको

Advertisement
dard shayari
dard shayari

Read also – Gum bhari shayari

किसी ने पूछा कभी इश्क किया है
हमने भी मुस्कुराकर कह दिया
जखम आज भी नहीं भरे है

दुरिया जब बढ़ी तो बहाने भी बढ़ गए
फिर तुमने वो भी सुना जो मैंने कभी कहा भी नहीं

मेरी भटकती हुई रूह को भी
तेरा ही इंतजार रहेगा
इस जन्म में ही नहीं उस जन्म में भी
मुझे तुमसे ही प्यार रहेगा

Advertisement

हर किसी को कह दिया है की भुला दिया तुझे
पर हकीकत को दिल ही जानता है

अगर वो मुझसे खुश नहीं है तो जुदा करे
ये मैंने कब कहा की मेरे हक़ में फैसला करे
मै किस तरह उसके साथ गुजारता हु ज़िन्दगी
उसे तो चाहिए की मेरा शुक्रिया करे

Dard bhari shayari 

dard shayari in hindi
dard shayari in hindi

Read also – Happy birthday wishes

जो कभी हमारे बिना एक पल नहीं गुजार पाते थे
देखिये आजकल वो बन गए है पुरे अंजाने
KALAM थी हाथ मै लिखना सिखाया आपने

Advertisement

Leave a Comment