Dard bhari shayari (दर्द भरी शायरी) in hindi

ताक़त थी हाथ मै होसला दिलाया आपने ,
MANJIL थी सामने रास्ता दिखाया आपने
हम तो सिर्फ़ दोस्त थे, AASHIQ बनाया आप ने

Advertisement

बेहद हदे पार की हमने भी कभी किसी के लिए
आज उसी ने सिखा दिया हद में रहना

मिटटी में मिला दे की जुदा हो नहीं सकता
अब इससे जादा मै तेरा हो नहीं सकता
देहलीज़ पे रख दी है किसी शक्श ने आँखे
रोशन कभी इतना तो दिया हो नहीं सकता

Gam bhari shayari

dard shayari in hindi
dard shayari in hindi

Read Also – Zingdagi shayari

Advertisement

उनसे बात नहीं होती
और किसी से बात करने का मन नहीं करता

हमारे रिश्ते को दफन करके जो बढ़ रहे हो 
तो एक वादा करोगे मुझेसे
तुम अपने बेटे का नाम मुझपे नहीं रखोगी

मेरे कमरे का वो कोना है याद है मुझे
की यहाँ , जब तू मेरे करीब आया था
मेरी उंगलियों से अपनी उंगलिया उलझाकर
मेरी तरफ देख मुस्कुराया था,
हौले से मुझे अपनी ओर कर
तू लबो को कानो तक लाया था
तू चली गयी तो रह नहीं पाउँगा ये कहकर
तूने मुझे  सीने से लगाया था

कमाल के थे वो जिन्होने जिंदगी तबाह कर दी
और ये भी कमाल की बात है
दिल उनसे खफा अब भी नहीं

Advertisement

दिल का गम किसी से बता नहीं पाते
उनसे मोहब्बत तो करते हैं पर भुला नहीं पाते
बस कुछ यादे बची हैं उनके चले जाने की
लाख कोशिश करने के बाद इन यादो को भुला नहीं पाते

dard bhari shayari image
dard bhari shayari image

Read also – Independence day shayari

ज़िन्दगी ज़ख्मो से भरी है
और उन ज़ख्मो का इलाज हो सिर्फ तुम 

बर्बाद करने के और भी रस्ते थे हमें
न जाने उन्हें मोहब्बत का ही ख्याल क्यों आया

Advertisement

Leave a Comment