Dard bhari shayari (दर्द भरी शायरी) in hindi

बड़ा दुःख होता है ये सोचकर
की कोई अपना कहते कहते
सपना हो गए

Advertisement

वो हमारा था ही नहीं फिर भी अपना समझकर
हमने अपने आपको बर्बाद कर लिया

हसीन आँखों को पढ़ने का अब भी शौक़ है मुझको……..
MOHABBAT में उजड़ कर भी मेरी आदत नहीं बदली.

जो दिल आपके नाम से हर पल धड़कता था
आज वही दिल आपका नाम लेकर रो रहा है

Advertisement
dard shayari photo
dard shayari photo

बेमतलब… बेफजूल… बेकार नहीं है  …!!
नये दौर के रिश्तें  है साहब… बस वफादार नहीं है  …!!

अब हिचकिया आती है तो पानी पे लेते है
अब वहम छोड़ दिया है की आप याद करते हो

गुज़र जाते हैं …..खूबसूरत लम्हें ….यूं ही मुसाफिरों की तरह….
यादें वहीं खडी रह जाती हैं …..रूके रास्तों की तरह….

जहा हमारी कदर नहीं
वहा हम रहना बिलकुल पसंद नहीं करते
चाहे वो तेरा घर हो या
तेरा दिल

Advertisement
dard shayari photo
dard shayari photo

MOHABBAT करने वालों की कमी नहीं है दुनिया में ,
अकाल तो निभाने वालों का पडा है ”SAHAB

अपनी सच्ची मोहब्बत पर इतना भरोसा है मुझको
मेरी हर वफ़ा तुझे किसी और का होने न देंगी

Leave a Comment